इन अमीर देशों के मुकाबले भारत में महंगा है दिल का ऑपरेशन

हार्ट की बीमारी का इलाज भारत में सबसे महंगा है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एशिया के सात देशों के मुकाबले भारत में इसके इलाज के दौरान काफी खर्च आता है। वहीं अमीर देशों में देखें तो दक्षिण कोरिया की प्रति व्यक्ति आय भारत से साढ़े पांच गुना ज्यादा है फिर भी वहां इस इलाज में कम खर्च आता है।

करीब 50 प्राइवेट अस्पतालों में की गई रिसर्च से ये बात सामने आई है। साल 2011 से 2014 के आंकड़े देखें तो पता चलता है कि भारत में एंजियोप्लास्टी (धमनियों में रुकावट के आने पर इन्हें खोलने के लिए एंजियोप्लास्टी सर्जरी की जाती है) का खर्चा सिंगापुर से भी ज्यादा है। लेकिन इसके इलाज से संबंधित कई प्रक्रियाएं ऐसी भी हैं जो चीन और थाईलैंड से सस्ती हैं। लेकिन दक्षिण कोरिया और वियतनाम से महंगी है।

चीन और थाईलैंड की प्रति व्यक्ति आय भारत से 2 गुना ज्यादा है। वहीं वियतनाम की प्रतिव्यक्ति आय भारत के ही बराबर है। वहीं चीन में ज्यादातर प्रक्रिया भारत से 13-25 फीसदी अधिक महंगी हैं। वियतनाम की बात करें तो यहां केवल 6 फीसदी स्वास्थ्य सेवाएं ही निजी हाथों में हैं। जिस कारण यहां इलाज सस्ता है।

यह जानकारी एक जर्नल में पब्लिश अध्ययन पर आधारित है। जिसमें विभिन्न देशों में हार्ट के इलाज संबंधित प्रक्रियाओं में खर्चे की तुलना की गई है। इसमें ईसीजी, कार्डियक मार्कर, इको कार्डियोलॉजी, एंजियोग्राफी, एंजियोप्लास्टी में आने वाले खर्चे को शामिल किया गया है। चलिए आंकड़ों के जरिए आपको बताते हैं कि भारत और बाकी देशों में कितना महंगा और कितना सस्ता है हार्ट का इलाज-

आंकड़ों में देखें कहां कितने में होता है इलाज

क्रय-शक्ति समता डॉलर (पर्चेजिंग पावर पैरिटी- (PPP)) अंतर्राष्ट्रीय विनिमय का एक सिद्धांत है जिसके अनुसार विभिन्न देशों में एकसमान वस्तुओं की कीमत समान रहती है। जिसके आधार पर देश अपने बाजारों में कुछ सामान खरीद सकते हैं।

क्रय-शक्ति समता डॉलर
(2011-14) भारत चीन दक्षिण कोरिया हांगकांग सिंगापुर एंजियोप्लास्टी
(1 स्टेंट) 11,477 5,558 2,581 5,879 65,580 बाइपास सर्जरी 10,137 16,033 5,810 10,197 110,058
एंजियोग्राफी 1,067 1,205 869 2,072 17,426
स्टे इन सीसीयू 282 298 161 1,999 3,210
इको-कार्डिओग्राफी 78 98 241 353 1,652 ईसीजी 9.9 7.6 9.9 58.9 130.5

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *